पीएमइंडिया

न्यूज अपडेट्स

प्रधानमंत्री के सूरत मैराथन के आरंभ में आयोजित कार्यक्रम में संबोधन के मुख्‍य अंश

प्रधानमंत्री के सूरत मैराथन के आरंभ में आयोजित कार्यक्रम में संबोधन के मुख्‍य अंश

प्रधानमंत्री के सूरत मैराथन के आरंभ में आयोजित कार्यक्रम में संबोधन के मुख्‍य अंश

प्रधानमंत्री के सूरत मैराथन के आरंभ में आयोजित कार्यक्रम में संबोधन के मुख्‍य अंश

जब लोग कुछ हासिल करना चाहते है तो उन्‍हें कोई भी ताकत रोक नहीं सकती। यह लोगों की ताकत है। कोई भी देश नेताओं और सरकारों से नहीं बनता है। लोगों की ताकत से राष्‍ट्र का निर्माण होता है। हमें नये भारत का निर्माण करना है,जो जाति, साम्‍प्रदायिकता और भ्रष्‍टाचार की राजनीति से मुक्‍त हो। हम ऐसे भारत का निर्माण करना चाहते है, जहां प्रत्‍येक नागरिक सशक्‍त हो।

सूरत शहर के लोगों में उल्‍लेखनीय दृढ़संकल्‍प भरा हुआ है। यह शहर सद्भाव में विश्‍वास रखता है। मैं सूरत के नागरिकों से आग्रह करता हूं कि वे इस वर्ष जून में होने वाले योग दिवस और अक्‍टूबर में होने वाली ‘एकता दौड़’ में सक्रिय रूप से शामिल हों।

ऐसी मैराथनों से लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य पर अच्‍छा प्रभाव पड़ता है। मैं लोगों से खेलों को आत्‍मसात करने का आग्रह करता हूं। इससे लोगों का स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा होता है और उनमें टीम भावना आती है।

नये भारत का निर्माण करना हमारा मिशन है। देश की आजादी में अपने प्राण न्‍यौछावर करने वाले महान महिलाओं और पुरूषों के प्रति यह सबसे बेहतर श्रद्धां‍जलि है।