पीएमइंडिया

न्यूज अपडेट्स

भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा प्रेस वक्तव्य

भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा प्रेस वक्तव्य

भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा प्रेस वक्तव्य

भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री द्वारा प्रेस वक्तव्य

Your Excellencies, President टस्क और President यंकर,
शिष्टमंडल के सदस्यगणों,
Media के साथियों,

मुझे प्रसन्नता है कि 14वें India-EU शिखर सम्मलेन के अवसर पर हमें President टस्क और President यंकर का स्वागत करने का सौभाग्य मिला।

यूरोपियन यूनियन के साथ बहु-आयामी साझेदारी हमारे लिए बहुत मूल्यवान है, और हमारी Strategic Partnership अहम महत्त्व रखती है।

1962 में European Economic Community की स्थापना के बाद भारत उससे diplomatic संबंध स्थापित करने वाले सबसे पहले देशों में था।

यूरोपियन यूनियन काफी लंबे समय से हमारा सबसे बड़ा trade partner है। Foreign Direct Investment के लिए भी यूरोपियन यूनियन हमारे सबसे बड़े स्त्रोतों में से एक है।

विश्व की दो सबसे बड़ी लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं के रूप में हम एक प्रकार से स्वाभाविक साझेदार हैं। हमारे घनिष्ठ संबंधों की नींव लोकतांत्रिक मूल्यों, विधि अनुसार शासन यानि rule of law, मूलभूत स्वतंत्रताओं और बहु-संस्कृतिवाद यानि multi-culturalism जैसी साझा मान्यताओं पर रखी गई है।

साथ ही साथ हम दोनों के बीच multi-polar और rules-based international order की विचारधारा भी साझा है।

पिछले वर्ष ब्रसेल्स में 13th शिखर सम्मलेन के बाद हमारे संबंधों में काफी गति आई है।President यंकर के कुछ दिन पहले के संबोधन के शब्दों में कहूं, तो India-EU relations today have a good wind in their sails!

Friends,

आज की हमारी मुलाकात में हमारे सहयोग के व्यापक एजेंडा पर हुए उपयोगी विचार-विमर्श के लिए मैं President टस्क और President यंकर का ह्रदय से आभार प्रकट करता हूं।

हम कई नए क्षेत्रों में अपने संबंधों का विस्तार करने में सफल हुए हैं। और हम इस बात पर सहमत हैं कि आपसी विश्वास और समझ पर आधारित इन संबंधों को हमें अधिकाधिक व्यापक और लाभकारी बनाने की दिशा में प्रयास करते रहना चाहिए।

पिछले वर्ष के हमारे Agenda 2020 और 13वें शिखर सम्मलेन में लिए गए निर्णयों के क्रियान्वयन की आज हमने समीक्षा की।

आतंकवाद के खिलाफ़ मिल कर काम करने और इस विषय पर अपने सुरक्षा सहयोग को बढ़ाने पर हम दोनों सहमत हैं। इस विषय पर हम न सिर्फ़ द्विपक्षीय स्तर पर अपना सहयोग मजबूत करेंगे, बल्कि वैश्विक मंच पर भी हम अपना सहयोग और समन्वय बढ़ाएंगे।

Clean Energy और Climate Change के विषय पर हम दोनों 2015 के Paris Agreement पर प्रतिबद्ध हैं।

Climate Change के विषय पर काम करना, और Secure, Affordable और Sustainable उर्जा, हम दोनों की साझी प्राथमिकताएं हैं। हम renewable energy की लागत कम करने के विषय पर भी सहयोग करते रहेंगे।

हम Smart Cities के विकास और Urban Infrastructure सुधारने के विषय पर यूरोपियन यूनियन के साथ सहयोग मजबूत करेंगे।

मुझे प्रसन्नता है कि India-EU Horizontal Civil Aviation Agreement अब क्रियान्वित हो गया है। मुझे विश्वास है कि इससे हमारे बीच Air Connectivity बढ़ेगी और people-to-people संबंधों को बल मिलेगा।

हमारे संबंधों का एक महत्वपूर्ण आयाम है हमारा Science and Technology और Research and Innovation में सहयोग। इस संदर्भ में आज युवा वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं के आवागमन (यानि mobility) पर हुए समझौते का मैं स्वागत करता हूं।

European Investment Bank द्वारा भारत में विकास के projects के लिए किये गए loan agreements भी स्वागत का विषय हैं।

मुझे इस बात पर भी प्रसन्नता है कि European Investment Bank अब International Solar Alliance के सदस्य देशों में solar projects की भी सहायता करेगा।

Trade and Investment के विषय पर भी भारत और यूरोपियन यूनियन अपने संबंधों को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

Your Excellencies,

भारत और यूरोपियन यूनियन की Strategic Partnership को मजबूत करने में आप दोनों के नेतृत्व और योगदान के लिए मैं आपका अभिनंदन करता हूं।

मेरी यह आशा और अपेक्षा रहेगी कि भारत की आपकी आगामी यात्रा इतनी कम अवधि की न हो।

धन्यवाद।

आपकी टिप्पणी

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा। आवश्यक स्थान * सॆ चिन्हित हैं

CAPTCHA Image

*