पीएमइंडिया

न्यूज अपडेट्स

मंत्रिमंडल ने सूचना संचार प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक के क्षेत्र में सहयोग के लिए भारत और बेल्जियम के बीच सहमति-ज्ञापन को मंजूरी दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल ने सूचना संचार प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक के क्षेत्र में सहयोग के लिए भारत और बेल्जियम के बीच सहमति-ज्ञापन को मंजूरी दी है। उल्लेखनीय है कि 7 नवम्बर 2017 को जब बेल्जियम के नरेश फिलिप भारत पधारे थे, तब इस सहमति-ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये गये थे। सहमति-ज्ञापन के तहत सूचना संचार प्रोद्योगिकी एवं इलेक्ट्रॉनिक नीति, सूचना संचार प्रोद्योगिकी एवं इलेक्ट्रॉनिक क्षेत्र में निर्माण एवं सेवाओं के विकास पर विशेष बल देते हुए अनुसंधान तथा डिजिटल एजेंडा प्रौद्योगिकी, ई-शासन, ई-जनसेवा आपूर्ति, सम्मेलनों में भागीदारी, अध्ययन एवं विशेषज्ञों के आदान-प्रदान, साइबर सुरक्षा, आंकड़ा उपयुक्तता के मुद्दों का निपटारा, बाजार पहुंच, कारोबार और सेवाओं के क्षेत्र में श्रेष्ठ व्यावहारों में भागीदारी की जाएगी।

पृष्ठभूमि:

इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्विपक्षीय एवं बहुपक्षीय सूचना संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) सहयोग के लिए कई देशों के साथ सहयोग कर रहा है। मौजूदा ज्ञान युग में आईसीटी आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और देश के आर्थिक तथा सामाजिक विकास में महत्वपूर्ण योगदान करता है। इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने आईसीटी क्षेत्र में सूचना के आदान-प्रदान तथा नजदीकी सहयोग को प्रोत्साहन देने के लिए विभिन्न देशों के समकक्ष संगठनों/एजेंसियों के साथ सहमति-ज्ञापनों/समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। विभिन्न देशों के साथ सहयोग बढ़ाने और खासतौर से भारत सरकार द्वारा ‘डिजिटल इंडिया’, ‘मेक इन इंडिया’ जैसी नयी पहलों के मद्देनजर उठाये गये कदमों के अनुरूप यह जरूरी हो गया है कि व्यापार अवसरों तथा प्रौद्योगिकीय क्षेत्र में निवेश को आकर्षित किया जाये।

भारत और बेल्जियम के बीच नजदीकी और दोस्ताना रिश्ते हैं। यूरोपीय संघ में बेल्जियम, भारत का दूसरा सबसे बड़ा कारोबारी साझेदार है। बेल्जियम को संचार प्रौद्योगिकी क्षेत्र, खासतौर से ई-शासन, इलेक्ट्रॉनिक पहचान पत्र और वेब आधारित कराधान इत्यादि क्षेत्रों में महारत हासिल है। प्रधानमंत्री मार्च 2016 में जब यूरोपीय संघ सिखर वार्ता और बेल्जियम के साथ द्विपक्षीय बातचीत के लिए बेल्जियम के दौरे पर गये थे, तो उस समय सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र में भारत तथा बेल्जियम के बीच सहमति-ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने का प्रस्ताव पेश हुआ था। इसके बाद इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री ने 7 फरवरी 2017 को नई दिल्ली में बेल्जियम के एक शिष्टमंडल के साथ बैठक की थी। बेल्जियम के शिष्टमंडल का नेतृत्व वहां के उप-प्रधानमंत्री एवं विकास सहयोग, डिजिटल एजेंडा, दूरसंचार तथा डाकसेवा मंत्री श्री एलेक्जेंडर डी क्रू ने किया था। बैठक के दौरान दोनों पक्षों ने पारस्परिक हित वाले क्षेत्रों के संबंध में बातचीत की थी। दोनों पक्षों ने डिजिटल इंडिया और डिजिटल बेल्जियम के तहत दोनों देशों के लोगों के डिजिटल सशक्तिकरण के संबंध में साथ काम करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की थी।